Breaking News

बिना ऑपरेशन के पथरी की समस्या के लिए 3 रामबाण उपचार


पथरी का दर्द कभी कभी असहनीय या बर्दास्त से बाहर हो जाता है पथरी होने पर पेशाब गाढ़ा हो जाता है और पेशाब करने में बहुत परेशानी या दिक्कत होती है और कई बार पेशाब रुक रुक भी आता है। वैसे पथरी होने की कोई उम्र नहीं होती पर सामान्यतः पथरी 30 से 60 वर्ष के लोगों में ज्यादा देखा गया है।
www.khabar4you.com


पथरी कोई खतरनाक या जानलेवा बीमारी नहीं है परंतु पथरी का दर्द कभी कभी असहनीय या बर्दास्त से बाहर हो जाता है पथरी होने पर पेशाब गाढ़ा हो जाता है और पेशाब करने में बहुत परेशानी या दिक्कत होती है और कई बार पेशाब रुक रुक भी आता है। वैसे पथरी होने की कोई उम्र नहीं होती पर सामान्यतः पथरी 30 से 60 वर्ष के लोगों में ज्यादा देखा गया है। जिन लोगो को मधुमेह की शिकायत होती है उन्हें गुर्दे का रोग ज्यादा होता है जिसमे एक रोग पथरी भी है इसलिए मधुमेह रोगियो को समय समय पर अपने गुर्दे की जाँच करवाते रहना चाहिए जिससे वह गुर्दे के रोगों से बचे रहे।
पथरी कई प्रकार की होती है । इनमे से  मूत्राशय की पथरी, गुर्दे की पथरी, और पित्त की पथरी प्रमुख है। पथरी होने पर ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। जब शरीर में पानी की कमी होने लगती है तो गुर्दे में पानी कम छनने लगता है जिससे शरीर में मौजूद कैल्शियम , यूरिक एसिड और अन्य पथरी बनाने वाले तत्व गुर्दे में फंस जाते है और धीरे धीरे पथरी का रूप ले लेते है। एलोपैथिक में पथरी का उपचार सिर्फ ऑपरेशन ही है लेकिन अगर आप ऑपरेशन नहीं करवाना चाहते है तो आयुर्वेद में पथरी के ऐसे बहुत से उपचार है जिसे आजमाकर आप पथरी की समस्या से छुटकारा पा सकते है। आज के इस पोस्ट में हम आपको पथरी की समस्या के लिए 3 ऐसे आयुर्वेदिक उपाय बताने जा रहे है जो रामबाण है और इस उपाय से सैकड़ो लोग पथरी से हमेशा के लिए छुटकारा पा चुके है।

(1) केले का कांदा(जड़)

www.khabar4you.com
50 ग्राम केले का कांदा लेकर अच्छी तरह पानी से धो ले और इसके छिलके को चाकू से छिलकर उसे मिक्सी या सिलपट्टे से बारीक़ पीसकर उसका रस निकाल ले। अब 25 ग्राम पुदीने की पत्ती को पीसकर उसका भी रस निकाल ले। अब 1 कटोरी दही में केले के रस और पुदीने के रस को मिक्स करके सिर्फ 3 दिनों तक सुबह खाली पेट इस मिश्रण को पिए। 3 दिनों तक इसका सेवन करने से कैसी भी पथरी हो गलकर पेशाब के रास्ते बाहर आ जायेगी। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात  ये है कि तीनो मिश्रण को मिलाने के बाद इसे तुरंत ही पीना है इसे रखना नहीं है।और इसे पिने के बाद 3 घंटे तक कुछ भी खाना पीना नहीं है।

(2) पथरचट्टा

www.khabar4you.com
आपने सुना होगा पखानबेद नाम का एक छोटा सा पौधा होता है जिसे साधारण भाषा में पथरचट्टा भी कहते है। इसके पत्तो को थोडा थोडा कूट ले और 1 गिलास पानी में अच्छी तरह से उबाल ले और जब यह 1कप के करीब बच जाय तो इसे ठंडा कर ले।अब इस काढ़े को 15 दिनों तक सुबह खाली पेट पिए

(3) कुलथी

www.khabar4you.com
कुलथी दो प्रकार की होती है एक काली कुलथी और दूसरी हल्की लाल रंग की। पथरी में दोनों को प्रयोग किया जा सकता है। पथरी की समस्या होने पर 1 कटोरी कुलथी को 1 चुटकी नमक डालकर पानी में उबाल ले और इसे रोजाना 1 माह तक सुबह खाली पेट खा ले और बचे हुए पानी को भी पी ले।
नोट : यह लेख या जानकारी केवल सामान्य ज्ञान प्रदान करती है अधिक जानकारी के लिए हमेशा एक योग्य विशेषज्ञ या डॉक्टर की परामर्श ले। khabar4you.com  इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है। 
आशा करता हु कि आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी। ऐसे ही उपयोगी जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहिये।और अपने सुझाव और सवाल के लिए हमें कमेंट करे और इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।

No comments